भारतीय सेना ने संभाला एलफिन्स्टन ब्रिज बनाने का काम, भगदड़ में 23 लोगों की हुई थी मौत

29 सितंबर को एलफिन्स्टन रेलवे स्टेशन पर बने फुट ओवर ब्रिज पर हुए भगदड़ के बाद अब फुट ओवर ब्रिज बनाने का काम शुरू हो गया है। इस नए ब्रिज को बनाने की ज़िम्मेदारी डिफेंस मिनिस्ट्री और आर्मी मिलकर उठाई है। इसी के तहत आज सेना के जवानों ने एलफिन्स्टन ब्रिज बनाने का काम शुरू कर दिया। जानकारी के मुताबिक़ सेना को इस ब्रिज का काम ख़त्म करने के लिए 31 जनवरी 2018 की डेडलाइन दी गई है।

काम शुरू करने से पहले खुद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री पीयूष गोयल और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मइके पर पहुंचकर निर्माणस्थल का जायजा लिया था। 

एलिफिंस्टन हादसे के बाद ही महाराष्ट्र सरकार ने ये साफ़ कर दिया था की इस बार जितने भी ब्रिज बनाये जाएंगे उसके लिए आर्म्ड फोर्सेस और डिफेंस की मदद ली जायेगी। केंद्र से भी इसकी मजूरी मिल गयी है।  29 सितंबर को हुए हादसे के बाद सरकार की जमकर फ़ज़ीहत हुई थी। हादसे में 23 लोग मारे गए थे। जांच में वेस्टर्न रेलवे ने पाया था कि, ब्रिज पर बारिश से बचने के लिए भीड़ जमा हो गयी थी और अफवाह की वजह से भगदड़ मच गई।

करीब सौ साल पुराण था एलफिन्स्टन ब्रिज

  • जिस फुटओवर ब्रिज पर हादसा हुआ था वो करीब 104 साला पुराना था 
  • जिसे अंग्रेज़ो ने बनवाया था, उस ब्रिज से हर दिन करीब 3 लाख से ज्यादा लोग गुजरते हैं। 
  • रेलवे के मुताबिक, जिस ब्रिज पर हादसा हुआ वो 5 मीटर चौड़ा और 32 मीटर लंबा है। इस पर डुअल एक्जिट है।
  • यह ऐसा रेलवे स्टेशन है जो एलफिन्स्टन रोड और परेल रेलवे स्टेशन को जोड़ता है। यह स्टेशन वेस्टर्न लाइन पर पड़ता है।
  • एलफिन्स्टन ब्रिज 104 साल पुराना था। 1911 में लॉर्ड एलफिन्स्टन के नाम पर स्टेशन बनाया गया था। इसके दो साल बाद ब्रिज बनाया गया। लॉर्ड एलफिन्स्टन 1853 से 1860 तक बॉम्बे के गवर्नर रहे थे। इस फुटओवर ब्रिज से हर दिन 3 लाख से ज्यादा लोग गुजरते हैं।
  • Eliphinsonte Bridge
  • Indian Army
  • Devendra Fadnavis
  • Bridge Collapse
  • Defense Ministry